नमस्कार दोस्तों आप सभी का Hindimaijaane.com पर हार्दिक स्वागत है। क्या आप कारों में या Engines में काफी ज्यादा इंटरेस्ट रखते हैं । क्या आप भी ऑटोमोबाइल(Automobile) क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं ? इस लेख में आज हम जानेंगे Automobile Engineer कैसे बने? इसके साथ ही ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग से जुड़े हुए आपके कई और सवालों के जवाब भी जानेंगे ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग कोर्स फीस , बेस्ट कॉलेजेस तथा ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग का स्कोप क्या है।

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग क्या है?

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग की एक शाखा है जिसके अंतर्गत कार, मोटरसाइकिल, ट्रैक्टर, ट्रक के डिजाइनिंग मैन्युफैक्चरिंग उनके मैकेनिज्म का विकास शामिल हैं। ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के पर ऑटोमोबाइल सेक्टर आधारित होता है।

आप ऑटोमोबाइल में डिप्लोमा तथा डिग्री दोनों में से कोई एक पाठ्यक्रम चुन सकते हैं , डिप्लोमा 3 वर्ष का होता है तथा डिग्री 4 वर्ष की होती है।

लेकिन यदि आप डिप्लोमा व डिग्री में लेटरल एंट्री के द्वारा एडमिशन प्राप्त करते हैं तो आपके पाठ्यक्रम की अवधि 1 वर्ष घट जाती है । इस तरह से आप डिप्लोमा व डिग्री करने के पश्चात एक ऑटोमोबाइल इंजीनियर बन सकते हैं।

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग स्कोप

किसी भी क्षेत्र में करियर बनाने से पहले हमने जरूर सोचते हैं कि क्या भविष्य में उसका स्कोप होगा या नहीं चलिए हम जानते हैं ऑटोमोबाइल का स्कोप क्या है?

2026 तक $118 का ऑटोमोबाइल कारोबार बढ़कर $300 होने का अनुमान है वित्त वर्ष 2020 में भारत में 26.36 मिलीयन बानो का उत्पादन किया। वित्त वर्ष 2020 में 20.1 मिलियन से अधिक वाहनों की कुल बिक्री के साथ दोपहिया और यात्री कारों का भारतीय ऑटोमोबाइल बाजार में क्रमश 80.8

इन्हे भी पढ़े:

ऑटोमोबाइल इंजीनियर क्वालीफिकेशन

हमारी करियर की शुरुआत दसवीं कक्षा के बाद से हो जाती है। ऑटोमोबाइल इंजीनियर बनने के लिए आपको सबसे पहला कदम कक्षा 10 के बाद उठाना होगा। कक्षा 12 में कम से कम 60% अंक प्राप्त करें। लेकिन यदि आप भारत कॉलेज के प्रमुख कॉलेजों जैसे की आईटी व NITS में एडमिशन प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको 12वीं कक्षा में कम से कम 75% अंक लाने होंगे।

यदि आप किसी आरक्षण जाति जनजाति से है तो आपके अंको में में छूट दी जाती है।

ऑटोमोबाइल इंजीनियर बनने के लिए आपके पास निम्नलिखित क्वालिफिकेशन होनी चाहिए।

  • उम्मीदवार की आयु कम से कम 17 वर्ष की होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा से कम से कम 50% अंकों से पास होना चाहिए।

डिग्री प्राप्त करने के लिए JEE Mains एग्जाम जिसके माध्यम से आप भारत के सरकारी इंजीनियर कॉलेजों में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं। हमने अपने अन्य लेख में JEE Main एग्जाम के बारे में विस्तार पूर्वक बताया है।

यदि आप दसवीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियर बनना चाहता तो दसवीं के बाद आप अपने राज्य के अनुसार, पॉलिटेक्निक कॉलेजों में एडमिशन ले सकते हैं तथा ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा प्राप्त कर सकते हैं।

एडमिशन प्रक्रिया

जैसा कि हम आपको ऊपर लेख में बता चुके हैं कि आप ऑटोमोबाइल इंजन में डिप्लोमा व डिग्री दोनों प्राप्त कर सकते हैं।

आपके चुने गए कोर्स के अनुसार एडमिशन की प्रक्रिया भिन्न होती।

डिप्लोमा एडमिशन प्रक्रिया:

यदि आप ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा प्राप्त करना चाहते हैं तो आप दसवीं कक्षा के बाद डिप्लोमा में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं। डिप्लोमा कॉलेजों में एडमिशन प्रक्रिया प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होता है तथा कुछ कॉलेजों में आप डायरेक्ट एडमिशन प्राप्त कर सकते।

बैचलर डिग्री एडमिशन प्रक्रिया:

आप ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में यदि बैचलर डिग्री में एडमिशन प्राप्त करना चाहते हैं तो आप को कम से कम 12वीं कक्षा में 50% अंक प्राप्त होने चाहिए। इसके साथ ही आपको 12वीं कक्षा में फिजिक्स केमिस्ट्री मैथमेटिक्स यानी कि साइंस स्ट्रीम होना आवश्यक है।।

आप बारहवीं कक्षा के बाद किसी प्राइवेट संस्थान में डायरेक्ट एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं लेकिन यदि आप सरकारी कॉलेजों में एडमिशन प्राप्त करना चाहते हैं तथा भारत के प्रमुख कॉलेजों(IITs,NITs) में एडमिशन प्राप्त करने के लिए आपको JEE Mains की प्रवेश परीक्षा अनिवार्य होगा। हमें अन्य लेख में के बारे में विस्तारपूर्वक से बताया है।

ऑटोमोबाइल इंजीनियर फीस

डिप्लोमा की फीस सामान्यत 10000 से ₹40000 प्रति वर्ष तक होती है। यह फीस प्राइवेट व सरकारी कॉलेजों की भिन्न-भिन्न हो सकती है तथा राज्यों के अनुसार भी अलग अलग हो सकती है।

यदि आप ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिग्री प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको बीटेक कॉलेजों में एडमिशन लेना होगा जिसकी बेटी कॉलेजों की फीस ₹80000 से लेकर ₹2,50,000 प्रति वर्ष तक होती है।

भारत के टॉप कॉलेज

  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी दिल्ली,
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मुंबई
  • IITs
  • NITs
  • NSUT
  • महाऋषि दयानंद यूनिवर्सिटी
  • दिल्ली टेक्निकल यूनिवर्सिटी
  • इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी
  • लवली यूनिवर्सिटी
  • पीडीएम यूनिवर्सिटी
  • शारदा यूनिवर्सिटी

ऑटोमोबाइल इंजीनियर टॉप भर्तीकर्ता

भारत में ऑटोमोबाइल इंजीनियर बनने के बाद आप कई बड़ी कंपनियों में कार्य कर सकते हैं कुछ कंपनियों के नाम आपको नीचे दिए हैं।

  • टाटा मोटर्स
  • महिंद्रा एंड महिंद्रा
  • मारुति सुजुकी उद्योग लिमिटेड
  • हौंडा
  • टीचर मोटर्स
  • एस्कॉर्ट
  • बजाज ऑटो लिमिटेड
  • हीरो मोटर्स
  • टोयोटा
  • अशोक
  • ऑडी
  • बीएमडब्ल्यू

इन कंपनियों में आप कार्य करने के अलावा कई अन्य बड़ी कंपनियों की सर्विस सेंटरों में भी कार्य कर सकते हैं।

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के बाद क्या करें

पूरा होने के बाद आप इस क्षेत्र में मास्टर्स डिग्री प्राप्त कर सकते हैं तथा अपने करियर को और ऊंचाइयों तक ले जा सकते हैं। इसके अलावा आप चाहे तो अपना कोई सर्विस सेंटर या फिर आप किसी बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी में कार्य भी कर सकते हैं नीचे आपको ऑटोमोबाइल इंजीनियर के मुख्य भर्ती कर्ताओं के नाम दिए गए हैं।

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग पद

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग पूरा होने के बाद आप निम्नलिखित पदों पर कार्य कर सकते हैं।

  • सीनियर प्रोडक्शन इंजीनियर
  • क्वालिटी इंजीनियर
  • सर्विस इंजीनियर
  • ऑटोमेटिक डेवलपर
  • रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफीसर
  • ऑटोमोबाइल डिजाइनर
  • एग्जीक्यूटिव एंड मैनेजरियल पोजीशंस
  • सर्विस स्टेशन ऑनर

ऑटोमोबाइल इंजीनियर सैलेरी

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में यदि आप एक डिप्लोमा करते हैं तो आपकी वार्षिक वेतन ₹300000 से 4.6 लाख रुपए प्रति वर्ष हो सकती है।

यदि आपने ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग डिग्री प्राप्त की है तो आपकी सैलरी ₹50000 से लेकर ₹100000 प्रति माह तक हो सकती है। ध्यान दें वेतन अनुमानित वेतन तथा आपके अनुभव व राज्य अनुसार आपकी सैलरी भिन्न हो सकती है।

बिना JEE Main एग्जाम के कैसे ऑटोमोबाइल इंजीनियर बने?

यदि आप एग्जाम की तैयारी नहीं करते हैं या फिर आप इस परीक्षा को देना नहीं चाहते हैं तब भी आप एक ऑटोमोबाइल इंजीनियर बन सकते हैं। आप चाहे तो डिप्लोमा कर सकते हैं या फिर आप किसी प्राइवेट कॉलेज में बीटेक की डिग्री में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं। प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेने पर आपको किसी भी प्रकार की प्रवेश परीक्षा नहीं देनी होती है।

निष्कर्ष

उम्मीद करता हूं कि आपको यह लेख पसंद आया होगा। इस लेख में आपने जाना कि ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में आप अपना करियर कैसे बना सकते हैं ।

ऑटोमोबाइल इंजीनियर से संबंधित सवाल जवाब

Q.क्या ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग एक अच्छा करियर विकल्प होगा?

जी हां यह एक कैरियर का एक अच्छा विकल्प हो गया

Q.क्या 12वीं कक्षा में साइंस स्ट्रीम आवश्यक है?

जी हां यदि आप ऑटोमोबाइल इंजीनियर बनना चाहते हैं तो 12वीं कक्षा में साइंस स्ट्रीम आवश्यक है।

Q.ऑटोमोबाइल इंजीनियर की सैलरी कितनी होती है

ऑटोमोबाइल इंजीनियर की सैलरी उसके अनुभव तथा उसके द्वारा ज्वाइन किए कंपनी पर निर्भर करता है सामान्यतः 20000 प्रति माह से लेकर 80000 प्रति माह तक वेतन होता है।

Q.क्या ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग इंग्लिश में होती है?

जी हां, ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग इंग्लिश भाषा में होती है।

Q.ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग के लिए सबसे बढ़िया कॉलेज कौन सा है?

किसी भी इंजीनियरिंग के लिए आईआईटी ,एनआईटी सबसे बढ़िया कॉलेज माने जाते हैं।

Q.क्या मैं बिना JEE Mains एग्जाम दिए ऑटोमोबाइल इंजीनियर बन सकता हूं?

जी हां आप ऐसा कर सकते हैं आप बारहवीं कक्षा के बाद किसी प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं।

Q.ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा की फीस कितनी होती है?

डिप्लोमा की फीस ₹10000 से ₹40000 प्रति वर्ष तक होती है।

Q.ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिग्री की फीस कितनी होती है?

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिग्री की फीस ₹80,000 से ₹2,50,000 प्रति वर्ष तक होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.