BHMS: Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery Admission Process

BHMS क्या है ?

सरल भाषा में कहें तो एक बीएचएमएस करने वाला एक डॉक्टर ही होता है लेकिन यह एलोपैथिक में ना होकर वह होम्योपैथिक का डॉक्टर होता है।

इस कोर्स के अंतर्गत छात्रों को होम्योपैथिक मेडिकल सिस्टम के बारे में समझाया और जानकारी प्रदान की जाती है।

आज के समय में बहुत कई लोग ऐसे होते हैं जो एलोपैथिक दवाई से संतुष्ट नहीं होते तो वह होम्योपैथिक या आयुर्वेदिक डॉक्टरों के पास जाते हैं।

इस कार्यक्रम में रुचि रखने वाले उम्मीदवारों को NEET, PUCET, IPUCET,KEAM अन्य प्रवेश परीक्षा देनी होती हैं।

ये कोर्स भी जाने:

BHMS Course details in tabular format

इस कोर्स की अवधि 4 से 5 वर्ष की होती है।

1 साल की इंटर्नशिप करनी आवश्यक होती है।

इस कोर्स को करने के बाद छात्र डॉक्टर बन जाते हैं।

इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको सबसे पहले प्रवेश परीक्षा देनी होती हैं कुछ प्रसिद्ध परीक्षाएं इस प्रकार से हैं।

यह परी की प्रवेश परीक्षा सामान्यत नेशनल स्तर तथा राज्य स्तरीय पर हो सकती है। इसके अलावा यह यूनिवर्सिटी स्तरीय की भी हो सकती है।

सामान्यता BHMS के लिए जनवरी के महीने में आवेदन शुरू होता है। सभी आवेदन ऑनलाइन होते हैं।

प्रवेश परीक्षा पास होने के बाद छात्रों का ग्रुप डिस्कशन के द्वारा शॉर्टलिस्ट किया जाता है। इस टेस्ट को पास करने के बाद छात्रों की काउंसलिंग होती तथा उनके रिजल्ट के अनुसार उन्हें कॉलेज प्रदान किया जाता है।

क्या बीएचएमएस एमबीबीएस से बेहतर है?

MBBS एलोपैथिक चिकित्सा विज्ञान पर आधारित है। BHMS एक होम्योपैथिक उपचार है, जबकि BAMS एक आयुर्वेदिक उपचार है। सभी सहमत हैं कि एमबीबीएस बेहतर और बेहतर है।

क्या बीएचएमएस करियर के लिए एक अच्छा विकल्प है?

देखिए यह बात आप पर निर्भर होती है की आपके अच्छे कोर्स से क्या मतलब है? लेकिन मैं आपको BHMS की विशेषताएं जरूर बता सकता हु।

बीएचएमएस (बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी) की डिग्री एक उम्मीदवार को डॉक्टर कहलाने और स्वतंत्र रूप से अभ्यास करने के योग्य बनाती है। होम्योपैथिक कॉलेजों में, वह प्रोफेसर या शोधकर्ता के रूप में कार्य कर सकता था। एलोपैथिक दवा से असंतुष्ट लोगों का एक बड़ा प्रतिशत है।

BHMS पात्रता मानदंड (Eligibility)

  • 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक होने चाहिए
  • उम्र सीमा: एडमिशन के दौरान छात्रों की आयु 17 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।

BHMS कॉलेज

BHMS फ़ीस

सरकारी नौकरी(Government Jobs After BHMS)

बीएचएमएस कार्यक्रम के स्नातक सरकार की अनुसंधान अधिकारी भर्ती परीक्षा के लिए आवेदन करने के पात्र हैं, जो होम्योपैथी में केंद्रीय अनुसंधान परिषद (सीसीआरएच) द्वारा आयोजित की जाती है। सीधे तौर पर काम पर रखे गए पेशेवरों को प्रवेश परीक्षा देने की आवश्यकता नहीं है।

BHMS Salary

इस कोर्स को करने के बाद औसतन सैलरी 2 से 7 लाख प्रति वर्ष के बीच होती है। यह आपके पद पर निर्भर होता है ।

BHMS करने के बाद आप किस पद पर कार्य कर सकते है । यह नीचे बताया गया है

  • फार्मासिस्ट
  • डायटिशियन
  • मेडीकल प्रैक्टिशनर्स
  • सर्जन
फार्मासिस्ट सैलरी:

फार्मासिस्ट सैलरी औसतन वेतन 2 लाख प्रति वर्ष तक होता है।

डायटिशियन सैलरी :

डायटिशियन का औसतन वेतन 2.3 लाख प्रति वर्ष तक होता है।

मेडीकल प्रैक्टिशनर्स सैलरी:

मेडीकल प्रैक्टिशनर्स का औसतन वेतन 4.4 लाख प्रति वर्ष तक होता है।

सर्जन सैलरी :

सर्जन सैलरी का औसतन वेतन 7.5 लाख प्रति वर्ष तक होता है।

Conclusion (निष्कर्ष)

इस लेख में अपने जाना कि बीएचएमएस क्या होता है , बीएचएमएस करने की पात्रता मानदंड क्या है कोर्स की फीस कोर्स की अवधि बताएं इस कोर्स को करने के बाद सैलरी कितनी होगी ।

FAQs ON BHMS

  1. Q. क्या MBBS और BHMS समान है।

    जी हां दोनों ही समान है और दोनों ही डॉक्टर होते हैं।

  2. Q. क्या MBBS, BHMS से अच्छा होता है

    जी हां आज के समय में एमबीबीएस बीएचएमएस से बेहतर माना जाता है।

  3. Q. BHMS के लिए कौन सी परीक्षा देनी होती है

    बीएचएमएस के लिए आप NEET , IPUCET

Leave a Reply

Your email address will not be published.