नमस्कार दोस्तों, आप सभी का Hindimaijaane.com में स्वागत है।आपने जरूर ही JEE Mains का नाम सुना होगा।

आज के इस लेख में हम जानेंगे JEE Main क्या होता है।

JEE Main क्या होता है

JEE Main: Joint Entrance Examination (ज्वाइंट एंटरेंस एग्जामिनेशन) हिंदी में संयुक्त प्रवेश परीक्षा होती है।

यदि आपका सपना इंजीनियर बनने का है तो आप को यह परीक्षा देनी आवश्यक हो जाती है लेकिन यदि आप प्राइवेट विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग करना चाहते हैं तो आपके लिए यह परीक्षा मायने नहीं रखती है।

JEE मैन 2022 एक्जाम पेटर्न Eligibility और पाठ्यक्रम(Syllabus) के लिए हम पहले ही लेख लिख चुके हैं,विस्तारपूर्वक जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर जाएं।

यह प्रवेश परीक्षा पूरे भारत में कराई जाती है । JEE Main की परीक्षा राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी(NTA) द्वारा प्रत्येक वर्ष में दो बार आयोजित कराई जाती है लेकिन करोना काल के बाद यह 1 वर्ष में 4 महीनों के अंतर्गत अब होने लगी है।

यह जनवरी फरवरी-मार्च अप्रैल 4 सैशन के अंदर यह परीक्षा पूरी कराई जाती है।

JEE Mains परीक्षा का इतिहास

भारत में सर्वप्रथम 2002 में यह परीक्षा आयोजित की गई थी।

यह परीक्षा वर्ष 2018 तक केंद्रीय माध्यमिक परीक्षा बोर्ड {Central Board of Education (CBSE)} के द्वारा आयोजित कराई जाती थी लेकिन वर्ष 2019 के बाद JEE Main राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (National Testing Agency) के द्वारा आयोजित की जाती है।

JEE Main 2022 Application Date,Exam Date, Eligibility Syllabus

JEE परीक्षा की भाषा

JEE Main परीक्षा इंग्लिश, बंगाली, गुजराती, हिंदी, कनाडा, मलयालम, मराठी, ओड़िया, पंजाबी, तमिल, उर्दू, और तेलुगु और असमीज भाषाओं में होती है।

इस परीक्षा की अवधि 3 घटे की होती है जिसके अंतर्गत आपको 90 प्रश्नों के उत्तर देने होते हैं। 90 प्रश्नों में से आपको 75 प्रश्नों के उत्तर देने होते हैं।

JEE Main परीक्षा में उत्तीर्ण रैंक लाने से इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन होता है।

इस प्रवेश परीक्षा में पास होने के बाद ही आप भारत के सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन यदि आप आईआईटी जैसे कॉलेजों में जाना चाहते हैं तो आपको JEE Advance की परीक्षा देनी होती है।

JEE Main की परीक्षा से भारत में अन्य केंद्रीय सहायता प्राप्त इंजीनियरिंग कॉलेजों के साथ कई राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थानों(NITs) में प्रवेश के लिए होती है।

JEE Main परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होती है।

JEE Main में नेगेटिव मार्किंग क्या होती है?

परीक्षा में गलत उत्तर दिए जाने पर आपका 1 अंक काट लिया जाता है। इस तरह की प्रणाली को नेगेटिव मार्किंग या नकारात्मक मूल्यांकन कहते हैं।

निष्कर्ष

आपने इस लेख में जाना कि मुझे JEE Main क्या होता है और साथ ही आपने JEE Main के इतिहास के बारे में भी जाना। JEE Main 2022 के बारे में विस्तार पूर्वक अन्य लेख में बताया गया है।

JEE Main से संबंधित सवाल जवाब

  1. Q. JEE Main की फुल फॉर्म क्या है

    Joint Entrance Examination (संयुक्त प्रवेश परीक्षा)

  2. Q. क्या मैं बारहवीं कक्षा के बाद JEE Main की परीक्षा दे सकता हूं?

    जी हां आप बारहवीं कक्षा के बाद JEE Main परीक्षा को दे सकते हैं।

  3. Q. क्या इंजीनियर बनने के लिए इस परीक्षा को देना अनिवार्य होता है?

    जी नहीं इंजीनियर बनने के लिए आपका इस परीक्षा का देना अनिवार्य नहीं होता है। लेकिन यदि आप सरकारी कॉलेजों से इंजीनियरिंग करना चाहते हैं(जैसे IITs,NITs) तो आपको यह प्रवेश परीक्षा देनी आवश्यक होती है।

  4. Q. क्या इस परीक्षा में केलकुलेटर का उपयोग किया जा सकता है?

    जी नहीं, इस परीक्षा में केलकुलेटर का उपयोग वर्जित होता है

  5. Q. क्या JEE Main परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होती है?

    जी हां इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होती है

  6. Q. JEE Main परीक्षा ऑनलाइन होती है या फिर ऑफलाइन?

    यह परीक्षा ऑनलाइन माध्यम के द्वारा होती है

  7. Q. JEE Main परीक्षा में कुल अंक कितने होते हैं?

    JEE Mains में कुल 300 अंक होते हैं।

  8. Q. क्या इस परीक्षा को देने के लिए साइंस स्ट्रीम का होना आवश्यक है?

    जी हां सिर्फ वे विद्यार्थी इस परीक्षा को दे सकते हैं जिन्होंने 12वीं कक्षा में साइंस स्ट्रीम ली हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.