एफिलिएट मार्केटिंग क्या है और कैसे काम करता है एफिलिएट मार्लेटिंग कैसे करे ? एफिलिएट मार्केटिंग के लिए मसहूर कम्पनिया कौन सी है ? एफिलिएट मार्केटिंग से जुड़े हुए कई अन्य सामान्य सवाल जानने के लिए यह पूरी पोस्ट पढ़े।

आज के समय में इंटरनेट का प्रसार बढ़ता जा रहा था इसी के साथ लोगों में ऑनलाइन शॉपिंग में दिलचस्पी बढ़ती जा रही है।

ई-कॉमर्स साइट के माध्यम से नए प्रकार के रोजगार का जन्म हुआ जिसे एफिलिएट मार्केटिंग कहा जाता है। मार्केटिंग आज के समय में Affiliate Marketing उभरता हुआ बिज़नेस बनता जा रहा है।

Affiliate Marketing क्या है-

आज के समय में इंटरनेट की पहुंच छोटे से छोटे गांव तक होती जा रही तथा इंटरनेट के माध्यम से लोगों के जीवन स्तर पर काफी अच्छा बदलाव आया है।इंटरनेट की वजह से हम आज के समय में दो तरीको से शॉपिंग कर सकते है, ऑफलाइन व ऑनलाइन शॉपिंग।

आज के सभी बड़े शहरो में अधिकतर लोग ऑनलाइन शॉपिंग करना पसंद करते है इसके अलावा भारत के छोटे छोटे गॉव व कस्बो में भी ऑनलाइन शॉपिंग होने लगी है। इसी के चलते बड़ी बड़ी कंपनियों ने अपने एफिलिएट प्रोग्राम शुरू किये है ताकि वे कंपनी अधिक पैसे कमा सके।

Affiliate Marketing : जब कोई वेबसाइट का ओनर किसी कंपनी के प्रोडक्ट को अपनी वेबसाइट के माधयम से प्रमोट करता है और उस प्रोडक्ट की सेल करवाता है तब कंपनी सेल किये गए प्रोडक्ट पर वेबसाइट ओनर को कमिशन देता है। इस पूरे प्रक्रिया को एफिलिएट मार्केटिंग कहते है।

उदाहरण के लिए जैसे एक सेल्समैन किसी चीज को जब बेचता है तो उसे इंसेंटिव मिलता है। ठीक इसी प्रकार से जब आप इन कंपनियों के कोई भी प्रोडक्ट को बेचने में सहायता करते हैं तो बदले में कंपनी आपको कमीशन देती है प्रत्येक प्रत्येक वस्तु का कमीशन अलग अलग होता है। इस पूरे इस पूरे प्रक्रिया को एफिलिएट प्रोग्राम या फिर एफिलिएट मार्केटिंग कहते हैं।

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे काम करता है

Affiliate Marketing kaise kaam karta hai
Image Source Webinhindi.com

Benefits of Affiliate Marketing (लाभ)

एफिलिएट मार्केटिंग के क्या फायदे हैं ?

यहां पर हम एफिलिएट मार्केटिंग के मुख्य फायदे जानने वाले है।

  • कम स्टार्टअप लागत
  • न्यूनतम खतरा (Low Risk )
  • विशेष रूप से लक्षित ऑडियंस
  • अनुकूलनशीलता (Adaptibility)
  • निवेश पर उच्च प्रतिफल (High return on Investment)
  • Work from home
  • Anyone can Do.(कोई भी व्यक्ति कर सकता है।)

वैसे तो एक सबसे बड़ा फायदा यही है कि Affiliate Marketing से पैसे कमा सकते हैं।

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे शुरू करे (How to Start Affiliate Marketing)

Affiliate Marketing शुरू करने के लिए आपको शुरुआती समय में Affiliate Marketing की जानकारी होनी चाहिए। तो था आपको यह पता होना चाहिए कि एफिलिएट मार्केटिंग कहां पर करनी है तथा किस प्रकार से आप कर सकते हैं भारत के सबसे प्रसिद्ध मार्केटिंग अमेजॉन एफिलिएट मार्केटिंग प्रोग्राम है। आज के समय में लेकिन इसके अलावा अन्य प्रकार के नेटवर्क उपलब्ध होते हैं जो Affiliate Marketing की सुविधा प्रदान करते हैं जैसे ClickBank, Adsterra,Snapdeal, इत्यादि

एफिलिएट मार्केटिंग के लिए आवश्यक बाते-

एफिलिएट मार्केटिंग शुरू करने के लिए आप के पास ऑडियंस(Daily 5000+ Visitors ) होनी चाहिए। आपके पास वेबसाइट या एप्लीकेशन होनी चाहिए। जहा पर आप अपनी ऑडियंस से कनेक्ट होते हो। आपके पास वेबसाइट पर अधिक ट्रैफिक होना जरूरी है तब ही आप एफिलिएट मार्केटिंग से मुनाफ़ा बना सकते है।

Affiliate Marketing के साइट्स को जॉइन कैसे करे

अब आपका मन हो चुका है कि आप एक विशेष एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करने वाले है तो आपको कुछ चरणों का पालन करना होगा और उसके बाद आप बड़े आसानी से ही आप एफिलिएट प्रोग्राम ज्वाइन कर सकते हैं।

आपके द्वारा चुनी गई एफिलिएट प्रोग्राम कंपनी के एफिलिएट पेज पर जाएं तथा “Join Now”/Create Account” के ऑप्शन पर क्लिक करें आप।

जब आप क्रिएट न्यू एफिलिएट अकाउंट पर क्लिक करते हैं तो आपसे निम्नलिखित जानकारी मांगी जाती है।

  • Name
  • Email ID
  • Mobile number
  • Address
  • Blog website URL / application URL.
  • Payment details.

यह सभी जानकारी ठीक से भर देने के बाद आप अपने आप को उस वेबसाइट पर रजिस्टर कर लेते हैं। यहां पर आपका कार्य खत्म होता है अब कंपनी का कार्य शुरू होता है अब आपके द्वारा दिए गए वेबसाइट या URL कंपनी आपके ब्लॉग या वेबसाइट को चेक करती है यदि वह उनके मापदंडो के अनुसार खरा उतरता है तो कंपनी आपके अकाउंट को खोल देती है। उसके बाद आप अफिलिएट से पैसे कमा सकते है।

Affiliate Marketing में ज्वाइन होने से पहले में रखे इन बातो का ध्यान

जब आप एफिलिएट मार्केटिंग करने का फैसला ले लेते है। तब आपके मन में सवाल आएगा की किस एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करे ? घबराइए मत में आपको आर्टिकल में बताने वाला ही हु।

किसी भी एफिलिएट प्रोग्राम से जुड़ने के लिए आपको इन मुख्य बिंदुओं का जरूर ध्यान दे। अगर आप इनका पालन करते है तो आपको आने वाली कुछ समस्या ख़तम हो जाएँगी।

Commision (कमीशन) – किसी भी एफिलिएट प्रोग्राम में ज्वाइन होने से पहले एफिलिएट प्रोग्राम प्लेटफार्म आपको किस प्रोडक्ट पर कितनी कमीशन देता है तथा उनकी कमीशंस के रेट क्या है यह जान लेना काफी जरूरी होता है। यदि आपको लगता है कि आपकी “Niche “से संबंधित प्रोडक्ट में कमीशन यहां पर आपको कम दी जा रही है तो आप किसी अन्य एफिलिएट प्रोग्राम में जुड़ सकते है जहां पर आपको इसका ज्यादा कमीशन मिले।

Reputation (प्रोडक्ट रेपुटेशन)- यदि आपकी कोई वेबसाइट या एप्लीकेशन या फिर कुछ ऐसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जहां पर आपके ज्यादा फॉलोअर्स है तो आप प्रोडक्ट रेपुटेशन का जरूर ध्यान रखें किसी भी एफिलिएट प्रोग्राम में जुड़ने से पहले उस प्रोडक्ट की क्वालिटी तथा उसके बारे में आपको ज्यादा जानकारी होनी चाहिए तभी आप लोगों को से प्रमोट करें।

ऐसा विल्कुल भी न करे की अधिक कमिशन के लिए आप प्रोडक्ट की ही न देखे। यदि वह प्रोडक्ट अच्छा नहीं हुआ और आपने उसका कोई रिव्यु लिखा हुआ है तब आपक वेबसाइट या यूट्यूब चैनल की इमेज भी डाउन हो सकती है।

Tools (टूल्स) -जब आप किसी एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करते है तब एफिलिएट प्रोग्रामर आपको टूल्स प्रदान करता है जिनकी मदद से आप आसानी से विज्ञापन बार बना सकते है।

PayOut Method -जिस भी प्रोग्राम में आप ज्वाइन होने वाले हैं उसमें आप यह जरूर देख की पेमेंट किस माध्यम से प्रदान की जाएगी।

Minimum Payout (मिनिमम पेआउट)/Thersold Payment– कोई भी एफिलिएट प्रोग्राम कम कितना कम पेमेंट आपको ट्रांसफर कर सकता है यह वह राशि होती है ।प्रत्येक कंपनी का अलग अलग मिनिमम पेआउट अमाउंट होती है। यह $10 से लेकर $100 पेमेंट हो सकती है।

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करें

अभी तक आप जान चुके हैं कि एफिलिएट मार्केटिंग क्या है तथा यह कैसे काम करता है।आप यह भी जान चुके है एफिलिएट प्रोग्राम में ज्वाइन होने के लिए क्या प्रक्रिया होती है। तो अब हम अपने लेख में आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि हम किस प्रकार से एफिलिएट मार्केटिंग कर सकते हैं या फिर एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करेंगे।

ब्लॉगिंग से (Blogging)

इंटरनेट के दौर में ब्लॉगिंग(Blogging), एफिलिएट मार्केटिंग(Affiliate Marketing ) करने का यह सबसे अच्छा तरीका माना जाता है। इस तरीके के अंतर्गत आपको एक अपनी खुद की वेबसाइट बनानी होती है जिसमें आप लोगों को जानकारी प्रदान करते है इसके अलावा हो सकता है आपने अपनी वेबसाइट को किसी टूल के रूप में बनाया हो तब भी आप एफिलिएट मार्केटिंग कर सकते है।

इसी के साथ आप उस जिसमें प्रोडक्ट को एफिलिएट मार्केटिंग करना चाहते हैं उस प्रोडक्ट रिव्यू बना कर लिख सकते हैं और उस प्रोडक्ट की लाभ व हानियां बता सकते हैं और उस प्रोडक्ट को उसी ब्लॉग में Affiliate लिंक द्वारा प्रमोट कर सकते हैं।

यूट्यूब से (Youtube)

एफिलिएट मार्केटिंग करने का यह भी एक अच्छा तरीका माना जाता है आज के समय में गूगल के बाद यूट्यूब गूगल का खुद का सबसे बड़ा सर्च इंजन की तरह बन चुका है क्योंकि लोग गूगल सर्च करने की वजह यूट्यूब पर सर्च करना ज्यादा पसंद करते हैं और किसी भी प्रकार की समस्या का हल वीडियो फॉर्मेट में देखना अधिक पसंद करते हैं। इसके साथ ही यूट्यूब पर मनोरंजक/ इंफॉर्मेशन तरह-तरह की चीजें उपलब्ध है इसी कारण से ऑडियंस भी कमी यूट्यूब पर नहीं है।

अपना चैनल बनाये और उस पर प्रोडक्ट के रिव्यु करे। इसके साथ ही अपनी वीडियो के डिस्क्रिप्शन में अपने एफिलिएट का लिंक भी प्रदान करे।

इसके आलावा हो सकता है की आपका मन हो की आप यूट्यूब चैनल पर और कुछ पर की जानकारी दे। तब आप इस चैनल पर अपनी वेबसाइट का वेब मेंशन करे और यूट्यूब का ट्रैफिक अपनी वेबसाइट पर ले जाये और वेबसाइट से आप एफिलिएट कर सकते है।

“Application” से

यदि आप एक अप्प डेवलपर है और आपके एप्लीकेशन के उसेर्स की संख्या अधिक है तब आप अपनी एप्लीकेशन का भी उपयोग एफिलिएट मार्केटिंग के लिए कर सकते है।
अगर आपको वेब डेवलपर के बारे में जानकारी प्राप्त करनी है तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे।

App Developer

यह तरीका बाकी तरीको से कठिन है एप्लीकेशन बनाना थोड़ा कठिन होता है इसका कारण यह है एक एप्लीकेशन को बनाने में अधिल कोडिंग स्किल्स की जरूरत पड़ती है।

इसी प्रकार से आप व्हाट्सएप टि्वटर तथा फेसबुक ग्रुप के माध्यम से भी एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) कर सकते हैं आपको इन तीनों की जगह पर काफी बड़ी ऑडियंस चाहिए होगी यदि आपके पास इन सोशल मीडिया पर अधिक फोल्लोवेर्स(Followers) है तब आप एफिलिएट लिंक को शेयर करे। इस प्रकार आप एफिलिएट मार्केटिंग कर पाएंगे।

Affiliate Marketing कोर्स कहा से करे ?

जैसे आप ऊपर जान चुके हैं एफिलिएट मार्केटिंग क्या होता है और इससे आप किस प्रकार से पैसे कमा सकते हैं वह बिजनेस कर सकते हैं। एफिलिएट मार्केटिंग की पूरी जानकारी होने के लिए आपको कहीं ना कहीं सीखना पड़ेगा। आप चाहे तो नलाइन प्लेटफॉर्म पर Affiliate Marketing कोर्स कर सकते हैं या फिर आप यूट्यूब व गूगल से फ्री में भी सीख सकते है।

लेकिन यदि आप चाहते हैं कि मैं कोई कोर्स ही करूं तथा किसी विशेषज्ञ द्वारा ही Affiliate Marketing सीखना चाहते है तो आप निम्न ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म्स से एफिलिएट मार्केटिंग सिख सकते है।

  • Udmey
  • Skill Share
  • Upgrad

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से सीखने का एक फायदा यह है की आपको यहाँ पर सर्टिफिकेट भी मिलता है और यहां पर आपको जानकारी विस्तार पूर्वक तथा अच्छे से जानकारी दी जाती है।

Affiliate MArketing से सम्भन्दित कुछ जरूरी शब्द

  1. Affiliates
  2. Affiliate Marketplace
  3. Commision
  4. Payment Mode
  5. Payment thresold

Affiliate Marketing Programme/Companies

यहां पर आपको कुछ प्लेटफार्म के नाम दिए जा रहे हैं जहां से आप एफिलिएट प्रोग्राम ज्वाइन कर सकते है। और वहां से अपना एफिलिएट लिंक प्राप्त कर सकते हैं।

  • Amazon Affiliate Programme
  • SnapDeal Affiliate Programme
  • Hostinger
  • Reseller Club
  • DGM India
  • Hostgator
  • Cuelinks
  • CJ Affiliates
  • Shopify Affiliates

निष्कर्ष/Conclusion

आपने इस पोस्ट में जाना की क्या है यह किस प्रकार से कार्य करता है। उम्मीद करता हु की आपके सभी सवालो का जवाव मिल गया होगा। यदि कोई सवाल रह गया है जो मैंने इस पोस्ट में नहीं लिख तो आप हमें कमेंट कर के जरूर बातये।पोस्ट अच्छी लगी हो तो शेयर करना न भूले।

Affiliate Marketing FAQs

मै Affiliate Marketor कैसे बन सकता हु ?

Affiliate Marketor बनने के लिए आपके पास काफी अच्छी ऑडियंस होनी चाहिए। यह ऑडियंस आपके पास वेबसाइट, कोई आप्लिकेशन या फिर कोई सोशल मीडिया से हो।
इसके बाद आप एफिलिएट प्रोग्राम के बारे में जानकारी प्राप्त करे और इसे समझे।
फिर जब आपको अच्छे से जानकारी हो जाये तब आप किसी भी एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करे और पैसे कमा सकते है।

Affiliate Marketing काम कैसे करती है?

एफिलिएट मार्केटिंग में कंपनी अपने प्रोडक्ट को किसी वेबसाइट ओनर या फिर एप्लीकेशन और न के माध्यम से Consumer तक अपने प्रोडक्ट को पहुंचाती है तथा जब वह कंज्यूमर Affliator के लिंक के माध्यम से कोई भी प्रोडक्ट खरीदता है तो Affilator को कमिसन दिया जाता है।यह कमिसन प्रत्येक प्रोडक्ट की अलग अलग होती है।

क्या Adsense और Affiliate दोनों को एक साथ Use कर सकते है ?

जी हां गूगल ऐडसेंस तथा एफिलिएट मार्केटिंग आप दोनों एक ही वेबसाइट पर एक साथ उपयोग कर सकते है।। बस आप इस बात का ध्यान रखे की Google Adsense की कोई भी पालिसी का उलंघन न करे। यदि आप ऐसा करते है तो हो सकता है आपके Google Adsense अकॉउंट पर खतरा बन सकता है।

क्या Affiliate Marketing के लिए वेबसाइट का होना जरूरी है ?

जी नहीं एफिलिएट मार्केटिंग के लिए वेबसाइट होना जरूरी नहीं है लेकिन आपके पास ऑडियंस या फिर एक ऐसा माध्यम होना चाहिए जहां पर आप अपनी ऑडियंस Engage हो सकते हैं और अपना एफिलिएट का प्रोडक्ट प्रमोट कर सकते हो।
यदि वेबसाइट के अलावा आपके पास एंड्रॉयड एप्लीकेशन हो तो और भी बेहतरीन है।

क्या ज्वाइन करने के लिए कोई चार्ज लगता है ?

किसी भी प्रकार के एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करने के लिए आपको कोई भी तरह का चार्ज नहीं देना पड़ता है। सभी प्रकार के एफिलिएट प्रोग्राम फ्री होते हैं बस आपको कुछ अपनी जानकारी देनी होती है जो।

क्या Affiliate Marketing के लिए कोई कोर्स करना जरूरी है ?

जी नहीं , Affiliate Mraketing का कोई भी कोर्स करना जरूरी नहीं होता है आप फ्री में भी गूगल से आर्टिकल पढ़कर एफिलिएट मार्केटिंग सीख सकते हैं। लेकिन यदि आपको लगता है कि एफिलिएट मार्केटिंग की जितनी जानकारी आपको होनी चाहिए या फिर जितनी जानकारी फ्री में उपलब्ध उससे अभी आप कम पैसा बना पा रहे हैं तो आप कोर्स परचेज कर सकते हैं।

क्या Blogger की वेबसाइट पर एफिलिएट मार्केटिंग कर सकते हैं?

जी हां आप किसी भी प्रकार की वेबसाइट पर एफिलिएट मार्केटिंग कर सकते हैं लेकिन शर्त यह है कि आपके पास कम से कम प्रतिदिन के 5000-6000 यूजर तो होने ही चाहिए क्योंकि तभी आप इससे मुनाफा बना पाएंगे।

मैंने एक-दो महीने एफिलिएट मार्केटिंग करी लेकिन मैं पैसा नहीं बना पाया क्या मैं Affiliate Marketing को छोड़ दूं?

मै इस बात पर सहमत नहीं हु। देखिए यदि आप Affiliate Marketing करना ही चाहते तो मैं आपसे कहूंगा 6 महीने कम से कम निरंतर प्रयास करें और 6 महीने के अंतर्गत आपको जरूर ही कुछ ऐसे परिणाम मिलेंगे। यदि परिणाम नहीं मिलते तब भी आप इतना सीख गए होंगे की आप आने वाले समय में एफ्लीएट से पैसे कमा सकते है।।

लेकिन आप 2-3 महीने के अंदर ही इसे छोड़ना चाहते है तो यह आपकी मर्जी है। लेकिन में आपसे एक बात जरूर बोलना चाहूंगा की इतनी आसानी से कुछ भी हासिल नहीं किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.