आसान भाषा में कहें शेयर मार्केट एक ऐसी जगह है जहां पर कंपनी अपने Share को बेचते हैं और आम जनता को हिस्सेदारी प्रदान करती है। इस तरह से कंपनी अपने लिए रुपए जुटाकर तथा आम जनता को कंपनी में हिस्सेदारी प्रदान करती है। यदि भविष्य में कंपनी का मुनाफा होता है तो कंपनी के शेयर खरीदने वालों को भी मुनाफा होता है यदि कंपनी घाटे में जाती है तो Share खरीदने वालों को नुकसान होता है।

निवेश क्यों करे?
स्टॉक एक्सचेंज क्या होते है ?

नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है। आज के लेख में हम जानेगे शेयर मार्किट क्या(Share Market Kya hai ) है यह किस प्रकार से कार्य करता है। शेयर मार्किट को किस प्रकार से आप सिख सकते है। इसके अलावा हमने आपको लेख में एक बोनस भी दिया है बोनस में आपको “7 गलतिया जो आपको शेयर मार्किट में नहीं करनी है”.

शेयर बाजार एक्सचेंज और अन्य संस्थानों के संग्रह संदर्भित करता है जहां सार्वजनिक रूप से कारोबार करने वाली कंपनियों के शेयर खरीदे या बेचे और जारी किए जाते हैं। इस प्रकार की वित्तीय लेनदेन संस्थागत औपचारिक एक्सचेंजों (over-the-counter) बाजारों में किए जाते हैं जो नियमों के एक सेट द्वारा शासित होते हैं।

भारत में SEBI द्वारा नियम बनाये जाते है।

SEBI: Securities and Exchange Board of India

भारत में यह नियम SEBI द्वारा बनाए जाते हैं तथा इन नियमों का पालन करना होता है। SEBI के कुछ मुख्य कार्य कुछ इस प्रकार से है।

  • स्टॉक एक्सचेंज एक मुक्त बाजार अर्थव्यवस्था के महत्वपूर्ण घटक होते हैं क्योंकि वह सभी प्रकार के निवेशकों के लिए व्यापार और पूंजी विनियमन के लिए लोकतांत्रिक पहुंच प्रदान करते हैं।
  • बाजारों में वे प्रभावी मूल्य खोज और कुशल व्यवहार सहित कई तरह के कार्यों का को अंजाम देते हैं।
  • स्टॉक एक्सचेंज सार्वजनिक कंपनियों में इक्विटी शेयरों का व्यापार करने के लिए खरीदारों और विक्रेताओं को एक साथ लाते हैं।

शेयर बाजार कार्य कैसे करता है ?

शेयर बाजार दो मुख्य बाजारों के रूप में कार्य करता है प्राथमिक तथा द्वितीय बाजार।

प्राथमिक बाजार को IPO(Initial Public Offering)कहा जाता है, तथा द्वितीय बाजार को शेयर मार्केट या स्टॉक मार्केट कहा जाता है।

शेयर बाजार एक प्राथमिक बाजार के रूप में निगमों को आरंभिक सार्वजनिक निर्गम के माध्यम से पहली बार आम जनता को शेयर जारी करने और बेचने की अनुमति देता है। यह अभ्यास व्यवसाय को निवेशकों से अवश्य धन प्राप्त करने में सहायता करता है इसका अनिवार्य रूप से मतलब है कि एक कंपनी खुद के कई शेयरों में विभाजित करती तथा उन शेयरों का हिस्सा जनता को कीमत पर बेचती है। इस प्रकार से वह कंपनी ग्रोथ तथा एक्सपेंशन के लिए पैसे को मार्केट से उठाती है।

इस लेख में प्राथमिक बाजार के बारे में कम बात करेंगे हमारा मुख्य चर्चा का विषय शेयर मार्केट होने वाला है।

शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव क्यों आते हैं।

शेयर मार्केट में उतार चढ़ाव आते रहते है क्या आपको पता है यह किन कारणों की वजह से होता है।यह जानने की कोशिश करते हैं। नीचे मैं आपको मुख्य कारण बता रहा हूं जिनकी वजह से शेयर मार्केट में उतार-चढ़ाव आते रहते है।

  1. सरकारी नीतियां
  2. RBI की मौद्रिक(Monetry) नीति और SEBI की नियमित नीतियां
  3. विनिमय दर ( Exchange Rate )
  4. ब्याज दर और मुद्रास्फीति(Interest rate and inflation)
  5. विदेशी संस्थागत निवेशक और घरेलू संस्थागत निवेशक (Foreign Institutional investors and domestic institutional investors)
  6. प्राकृतिक आपदा

शेयर मार्केट में निवेश करना कैसे सीखे ?

यदि आप पहली बार शेयर मार्केट को जान रहे हैं तो मैं आप से आशा करता हूं कि आप पहले शेयर मार्केट को पूरी जानकारी ले सीखे समझे तथा उसके बाद निवेश करने का निर्णय लें। क्योंकि शेयर मार्केट काफी ज्यादा रिस्की (Risky) होता है। हम आपको इस लेख में नीचे बताएंगे कि किस तरह से आप चरणबद्ध तरीके से शेयर मार्केट को सीख सकते हैं।

सिखने का समय निर्धारित करे

जब आपने निर्धरित कर लिया है की आपको शेयर मार्किट को सीखना है और उसके बाद आप शेयर मार्किट में निवेश करना चाहते है तो सबसे पहले आप अपने सिखने के समय को निर्धारित करे।
आप प्रीतिदिन या सप्ताह के अंत में सिखने का प्लैन बनाये।
सिखने के लिए आप गूगल ,आर्टिकल, Youtube वीडियोस की सहायता ले सकते है।

Credits : SIDDHARTH BHANUSHALI

सीखें पहले ,आगे बड़े बाद में

किसी भी कार्य को करने से पहले हमारा उदेश्य होता है की उस कार्य को सीखे और उस कार्य की प्रैक्टिस करे , उसके बाद ही हम उस कार्य को अच्छे से कर पाते है। ठीक इसी प्रकार आपको शेयर मार्किट के बारे में सीखना होगा।

हो सकता है आपने यूट्यूब या फिर किसी अन्य माध्यम से ऐसा न्यूज़ देखी हो ,जिसमें एक व्यक्ति बताता है किस तरह से वह शेयर मार्केट से अमीर बन गया। इस कारण से ज्यादा लोगों को लगता है कि शेयर मार्केट से जल्दी से पैसा बनाया जा सकता है वे लोग सीखने पर ध्यान नहीं देते और शेयर मार्किट में घुस जाते है। हड़बड़ी में कई गलतियां कर देते है नतीजा, उनके पैसो में नुक़सान होता है । तो यह गलती आप कभी न करे।

मैं आपसे एक सवाल पूछना चाहूंगा?

यदि आपने कुश्ती लड़ने की प्रैक्टिस नहीं कि या फिर आपको कुश्ती लड़ना नहीं आता है तो आप सीधा कुश्ती के मैच में लड़ने कैसे जा सकते हैं? आपको कुश्ती लड़ना नहीं आता है और आप सीधा कुश्ती लड़ने चले जाते हैं तो जाहिर सी बात है उस मैच में आप कुश्ती हारने वाले ही हैं तो ठीक इसी प्रकार से शेयर मार्केट में भी होता है “सबसे पहले सीखे उसके बाद ही आगे बढ़े”

अब आपके मन में प्रश्न आएगा कि शेयर मार्केट में क्या सीखे और कहां से सीखे?

शेयर मार्केट की आपको मूल बातें जाननी होंगी तथा उन्हें अच्छे से समझना होगा। किस प्रकार से शेयर मार्केट कार्य करता है,शेयर मार्किट में किस प्रकार किसी कंपनी को चुना जाये और उस शेयर को कब बेचे। शेयर मार्केट जितना बाहर से आसान दिखाई देता है लेकिन वह इतना आसान होता नहीं है।

अपने लक्ष्य को तय करें

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले आपको अपने लक्ष्य तय करने होंगे। लक्ष्य दो प्रकार के होते हैं अल्पकालिक लक्ष्य(Short term goal ) और दीर्घकालिक लक्ष्य(Long term goal).शुरुआती समय में आप अपने लिए दीर्घकालिक लक्ष्य बनाये । जब आपको कुछ महीनो या वर्षो बाद यकीन हो जाये या आप शेयर मार्किट से पैसा बनाने लगे तो आप अल्पकालिक लक्ष्य की तरफ जा सकते है।

अपने जोखिम सहनशीलता को समझें

जब आपका लक्ष्य निर्धारित हो जाए तब आप को उसके बाद अपने जोखिम को ध्यान रखना कि आप कितने रुपयों का जोखिम उठा सकते हैं यदि वे रुपए आपके पास से चले भी जाते हैं तब भी आपको अच्छे से नींद आनी चाहिए ऐसा ना हो कि आप अपना घर बेचकर शेयर मार्केट में उतर रहे हैं। ऐसा आपको कभी भी नहीं करना चाहिए । आपको हमेशा अपनी जोखिम को मध्यनज़र रखते ही निवेश करना है।

अपनी रिसर्च स्वयं करें

जब आप शेयर मार्केट की मूलभूत बातें समझ जाएं तब उसके बाद बारी आती है कि आप अपनी रिसर्च अनुसंधान स्वयं करें।शेयर मार्किट में आपको कंपनी को चुनने के लिए रिसर्च करनी होती है।आज के समय में आप इंटरनेट का उपयोग कर सकते हैं यूट्यूब पर वीडियो देख सकते हैं ,आर्टिकल पढ़ सकते है।

निवेश से जुड़ी हुई किताबें पढ़ें?

जैसे ही आपने सुना कि निवेश करने के लिए किताबें पढ़नी पड़ती हैं तो हो सकता है आपका मन उतर गया हो लेकिन यह सच है कि अच्छा निवेशक बनने के लिए आपको किताबें पढ़नी आवश्यक होती है क्योंकि किताबों किताबों को पढ़ने से आपके विचार तथा निवेश करने के लिए समझदारी बढ़ती है। वैसे किताबे पड़ना आवशयक नहीं है यदि आपने सही तरीके से स्टॉक मार्किट को सिख लिया है।

अपनी भावनाएं नियंत्रित करना सीखे

शेयर मार्केट में ऐसा बहुत बार होता है आप अपने ऊपर भावनाएं हावी देने देते हैं, नतीजा यह होता है कि आप कुछ ऐसे निर्णय लेते हैं जो कि आपके लिए गलत साबित होते हैं।

निवेश में विविधता लाए

आप एक सफल इन्वेस्टर की तरह अपने निवेश में विविधता लाए।आप सोच रहे होंगे कि विविधता लाने की क्या आवश्यकता है?

आपने जिस शेयर में निवेश क्या हो सकता है उस क्षेत्र में मंदी आ जाए यदि आपने किसी अन्य शेयर या किसी अन्य क्षेत्र में निवेश किया होगा तो वह पैसे आपके जाएंगे इस तरह से आपको पूरी रकम से हाथ नहीं धोना पड़ेगा।

शेयर का मूल्य बढ़ता या घटता क्यों है?

शेयर मार्केट में किसी भी शेयर का मूल्य डिमांड और सप्लाई की वजह से घटता बढ़ता है।

  • मार्केट में सप्लाई बढ़ जाती है और डिमांड कम हो जाती तो उस समय शेयर मूल्य में गिरावट आती है।
  • मार्केट में डिमांड बढ़ जाती है तथा सप्लाई कम हो जाती है तो उस समय शेयर का मूल्य बढ़ जाता है।

चलिए अब आप जानते हैं कि किस तरह आप शेयर मार्केट में निवेश कर सकते हैं

शेयर मार्किट में निवेश कैसे करना है ?

शेयर मार्केट में आपको निवेश करने के लिए आपके पास एक डीमैट अकाउंट होना आवश्यक है। डिमैट अकाउंट बनाने के लिए किसी ब्रोकर(Broker) से खुलवा सकते है या फिर अपनी बैंक में जाकर डिमैट अकाउंट खुलवा सकते हैं।

बैंक में और ब्रोकर के पास अकाउंट खुलवाने में क्या अंतर है?

यदि आप किसी ब्रोकर के पास अकाउंट खुलवा देते हैं तो आपको सपोर्ट मिलेगा। ब्रोकर आप को सिखाने के लिए कई प्रोग्रामों का आयोजन करते हैं जिनके माध्यम से वह आपको शेयर मार्केट के बारे में सिखाते हैं।

आप शेयर मार्केट में पैसे निवेश करना चाहते हैं तब आप पर अकाउंट बना सकते हैं, इस पर डिमैट अकाउंट बनाना काफी आसान बहुत जल्द बन जाता है।

डिमैट अकाउंट बनाने के लिए आपके पास कौन से दस्तावेज डॉक्यूमेंट होना आवश्यक है

  • पैन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • चेक बुक

यदि आप ज्यादा से डिमैट अकाउंट जाते हैं तब आपको यह 3 दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।

7 गलतियां जो आपको नहीं करनी चाहिए !

यदि आप शेयर मार्केट में निवेश करना शुरू करना चाहते हैं तो मैं आपको कुछ ऐसी गलतियां बताना चाहूंगा जो एक शुरुआती निवेशक शेयर मार्केट में करता है।इन गलतियों को आप कभी न करे।

  1. किसी भी प्रकार की टिप पर निवेश ना करें।
  2. अपने जोखिम को समझें।
  3. जल्दी से पैसा पाने की उम्मीद से स्टॉक्स में निवेश न करे।
  4. एक सफल स्टॉक निवेशक के पोर्टफोलियो का अनुकरण कभी भी न करे।
  5. एक ही स्ट्रेटजी का उपयोग करें।
  6. मन स्थिर ना हो तो ट्रेड ना करें।
  7. उधार पर पैसे लेकर निवेश ना करें।

निष्कर्ष

इस लेख में आपने सीखा कि किस तरह से स्टॉक मार्केट कार्यकर्ता तथा स्टॉक मार्केट क्या होता है , मार्केट को किस तरह से सीखा जाए और स्टॉक मार्केट में 7 गलतियां जो आपको नहीं करनी है। यदि आपको यह लेख मूल्यवान लगा तो यह अपने मित्र और प्रियजनों को शेयर करें ‌‌ जो शेयर मार्केट की जानकारी हिंदी भाषा में प्राप्त करना चाहते हैं।

सवाल जवाब (FAQs)

  1. Q.1 शेयर मार्केट में न्यूनतम कितने पैसे से शुरू किया जा सकता है।

    आप शेयर मार्केट में किसी भी राशि से शुरू कर सकते हैं।

  2. Q.2 शेयर मार्केट हमें शेयर कैसे खरीदते हैं?

    शेयर खरीदने के लिए आपके पास डीमैट अकाउंट होना आवश्यक है।

  3. Q.3डीमैट अकाउंट कहां पर खुलता है?

    आप डीमेट अकाउंट चाय तो अपनी बैंक मत जा बैंक में जाकर खुलवा सकते हैं या फिर आप ऑनलाइन ब्रोकरों से खुलवा सकते हैं जीरोधा स्टॉक ग्रुप जैसे कई अन्य ब्रोकर उपलब्ध है।

  4. Q.4 क्या शेयर मार्केट में हमेशा पैसा कमाते हैं?

    ऐसा कहना उचित नहीं होगा शेयर मार्केट में नुकसान तथा लाभ दोनों होता है।

  5. Q.5भारतीय शेयर बाजार सप्ताह के कितने दिन खुलता है?

    भारतीय शेयर बाजार सप्ताह के 5 दिन खुलता है । सार्वजनिक अवकाश के दिन शेयर बाजार बंद रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.